शादी के बाद भी मैं अनचुदी रह गई



loading...

काफी सारी कहानियाँ पढ़ने के बाद मैं चाहती हूँ कि अपनी आप-बीती भी मैं आपको सुनाऊँ।
मेरा नाम बेला है, मैं रांची से हूँ। मेरी शादी एक सीधे साधे चूतिया टाइप के इंसान से हुई है। शादी के बाद हम अपनी मधु चन्द्रिका मनाने मनाली गए पाँच दिनों के लिए। उन पाँच दिनों में ऐसा कुछ नहीं हुआ जिससे मुझे मज़ा आया हो! आप शायद समझ गए ! तरुन (मेरे पति) ने मुझे ढंग से नहीं चोदा- मैं अनचुदी रह गई।

मैं वापस दिल्ली आ गई और ऑफिस के काम में लग गई।
एक रोज़ बॉस ने कहा- शनिवार को आना है !

मुझसे वैसे भी शनिवार काटे नहीं कटता था क्यूंकि तरुन का शनिवार को भी ऑफिस होता है। मैं तकरीबन ग्यारह बजे ऑफिस पहुँच गई। बॉस आ चुके थे। हम दोनों ने दो बजे तक डटकर काम किया। ऑफिस में सिर्फ मेरा बॉस, मैं और ऑफिस बॉय राजू था।

मैं अपने कंप्यूटर पर कुछ काम कर रही थी कि बॉस पीछे से आकर देखने लगे और समझाने लगे कि कैसे क्या करना है। मैं उनका निर्देश लेकर काम करती रही। चूंकि बॉस बहुत पास आकर देख रहे थे, मेरा एक गाल उनके बहुत ही नज़दीक हो गया था। उनको पता नहीं क्या सूझी, उन्होंने मेरे गाल पर एक पप्पी दे दी। मैं चौंक गई।

बॉस ने कहा- बेला, तुम बहुत सुन्दर हो और मुझे तुम अच्छी लगती हो।

मैं बस उनको देखती रह गई। फिर उन्होंने मेरी बाहों पर हाथ फेरना शुरु किया। हाथ फेरते फेरते उनके हाथ मेरे गले तक पहुंचे और वे मुझे प्यार करने लगे। इतने में राजू अन्दर आया। मैंने बॉस से कहा- सर, राजू को बाहर भेजिए पहले।

बॉस खुश। इसमें मेरी हाँ जो थी।

वे बाहर गए यह कहते हुए कि तैयार रहना। मैं समझ गई कि बॉस मुझे आज चोदेगा और मैं खुश हो गई। मैंने अपनी चूत से कहा- देख निगोड़ी ! सब्र का फल मीठा होता है। आज उछल कर चुदना।

मैं सीधे बाथरूम गई, खूब मूता और अपनी चूत को खूब साफ़ किया। हल्का सा स्प्रे लगाकर मैं बाहर आ गई। इतने में बॉस अन्दर आये। और उन्होंने मुझे दीवार से टिकाकर मुझे खूब चूमा। चूमते चूमते उन्होंने मेरा ब्लाऊज उतार दिया। अब मैं ब्रा और स्कर्ट में थी। मुझे अपनी गोद में बिठाया और मेरे होटों को चूसने लगे। मैं भी कहाँ पीछे हटने वाली थी। मैं भी मस्त हो कर उनसे झूल गई। क्यों ना झूलती ! मेरी चूत में भी तो कुछ कुछ हो रहा था।

उन्होंने मुझे खड़ा किया और मेरी स्कर्ट उतार दी। मैं अब सिर्फ चड्डी और ब्रा में थी। बॉस मुझे निहार रहे थे, मैंने इनकी टी-शर्ट उतार दी और फिर उनकी जींस। बॉस का लंड तो बाहर आने के लिए कुलांचे भर रहा था। मैंने उनका लंड पकड़ लिया। बॉस ने एक आह भरी और मुझे मेरी ब्रा से अलग किया।

दोनों मम्मों को दबाने लगे और फिर मुझे गोद में उठाकर मेरी चड्डी अलग कर दी। इस वक़्त मैं बॉस की बाहों में पूरी की पूरी नंगी थी। बॉस मुझे इसी अवस्था में बोर्ड रूम ले गए और मुझे मेज़ पर लिटा दिया। मेरे दोनों हाथ ऊपर और दोनों टाँगे अलग अलग करके वे मेरी झांटों से खेलने लगे।

मेरे होंठों पर उनके होंठ, उनका एक हाथ मेरी एक बांहों को सहला रहा था और दूसरे हाथ से वे मेरी चूत से खेल रहे थे। ऐसा सुख मुझे तरुन ने कभी नहीं दिया था। बॉस मुझे चूमते हुए मेरी नाभि तक पहुंचे और फिर मेरी चूत पर। चूत को चौड़ा कर उन्होने अपनी जीभ मेरे रति-छिद्र में डाल दी जिससे में दो फ़ुट ऊपर उछल गई।

इतने में मेरा मोबाईल बजा, अब मैं कैसे उठाती। बजते बजते बंद हो गया। फिर बजा। और उसके बाद फिर। मैं समझ गई तरुन ही होंगे। इतने में ऑफिस का फ़ोन बजा और चूंकि एक फ़ोन उस मेज़ पर ही था, मैंने अनायास उठा लिया। दोस्तों आप ये कहानी मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है l
तरुन ही थे, पूछ रहे थे- क्या कर रही हो डार्लिंग?

अब मैं क्या कहती – अपनी चूत चुसवा रही हूँ?

मैंने कहा- काम कर रही हूँ।

इतने में राज के चूसने से मैं झड़ने वाली थी। मेरे मुँह से एक लम्बी आह निकली।

तरुन ने पूछा क्या हुआ?

सोचा- बोल दूं कि झड़ने वाली हूँ, लेकिन कहा- एक जगह बैठे बैठे पांव सुन्न हो गया। हिल नहीं पा रही हूँ।

इतने में राज ने मेरी चूत से पानी निकाल दिया। मैंने फ़ोन रख दिया और जोर से हूँ-हाँ करने लगी। बॉस ने अब ऊँगली करनी शुरू कर दी और मैं फिर से झड़ गई। बॉस मुझे खूब चूमा और कहा- उठो।
मैं मेज़ से उठ नहीं पा रही थी। बॉस समझ गए। मेरे बदन को निहारते रहे।

पांच मिनट के बाद में उठी और बॉस के सामने खड़ी हो गई। अब बॉस मेज़ पर लेट गए। मैंने उनकी चड्डी उतार दी। उनका लंड तो एक भयानक किस्म का जीव लग रहा था। आठ इंच लम्बा और डेढ़ इंच मोटा। उनका सुपारा एकदम गुलाबी रंग का था और मैंने उस सुपारे को अपने नाख़ून से थोड़ा पिंच किया। मेरे बॉस के मुँह से एक दर्दनाक आह निकली। मैंने अपने दोनों हाथों से उनका लंड लिया। मेरे दोनों हाथों में नहीं समा पा रहा था वो। खैर मैंने एक हाथ से उसको हिलाना शुरू किया।

फिर बॉस ने अपनी टांगें चौड़ी की और कहा- टेबल पर आ जाओ !

मैं मेज़ पर चढ़ गई और उनका लंड चूसने लगी। मैंने खूब चूसा और खूब हिलाया। उनके टट्टे अपने मुँह में लेकर उनके लंड को ऊपर नीचे करने लगी। बॉस शायद झड़ने वाले थे। एक लम्बी आह भरी और बोले- बेला मेरा मट्ठा निकल रहा है ! चूस रानी चूस।

मैने भी उनके लंड को चूसकर सारा का सारा मट्ठा निकाला और पी गई। बॉस का लंड एक ओर लुढ़क गया। मैने उसे चूमा और बॉस के पास आकर लेट गई।

दस मिनट के बाद बॉस ने पूछा- तैयार हो?

मैं तो कब से तैयार थी, मैं बोली- हाँ ! और इनका लंड फिर से तैयार करने लगी।

बॉस मेरी चूत में ऊँगली करने लगे। मैं तो गीली हो गई थी। बॉस ने मुझे गोद में उठाया और सोफे की ओर ले गए। मुझे औंधा लिटा कर उन्होंने मेरे चूतड़ उठाये और फिर मेरी फुद्दी में अपनी एक ऊँगली डाल दी। मैं तैयार थी। इतने में बॉस ने अपना सुपारा मेरी चूत में डाला और एक जोर का झटका दिया। मैं चीख पड़ी। बॉस को कोई फर्क नहीं पड़ा।

वे मेरी कमरिया को पकड़कर कभी मुझे अपनी ओर खींचते या फिर मुझे स्थिर रखकर अपने आप को धक्का देते। दोनों ही सूरत में मेरी फाड़ रहे थे। मैं तो बस चीखती रही। ये तो सहवाग की तरह बल्लेबाजी कर रहे थे। पता नहीं इनको क्या जल्दी थी। ऐसा उन्होने मेरे साथ तकरीबन पंद्रह मिनट तक किया और नीचे से मेरे मम्मों को भी दबा रहे थे।

मैं चिल्ला रही थी- बस करो बस करो, आह, ऊह, मर गई, मम्मीईई, मम्मीईईई ! दोस्तों आप ये कहानी मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है l

मगर बॉस को कोई रहम नहीं आया। बॉस मुझे चोदते रहे और मैं चुदती रही। मेरी चूत का तो उन्होंने भोसड़ा बन दिया था। मन ही मन चाह रही थी कि तरुन देखें और सीखें कि किस तरह से एक चूत को चोदा जाता है। थोड़ी देर में बॉस झड़ने वाले थे। उन्होंने अपना लंड निकाला और मेरी गोरी पीठ पर रख दिया।

एक गर्म एहसास हुआ पीठ पर और बॉस ने अपना सारा माल मेरी पीठ पर उड़ेल दिया और फिर मेरे बगल में बैठ गए। मैं बॉस की गोद में लुढ़क गई। मैं बहुत थक गई थी। मैंने शादी से पहले ऐसी चुदने की कल्पना भर की थी। तरुन ने यह सुख कभी ना दिया और ना ही कभी देगा। और बॉस ने तो मेरी ले ली।

उस रोज़ बॉस ने मुझे दो बार मेरी चूत को और चोदा और एक बार गांड भी मारी। शाम होते होते मैं बहुत पिद चुकी थी। इतनी चुदाई के बाद तो मैं खड़ी भी नहीं हो पा रही थी। बॉस ने मुझे उस रात घर तक छोड़ा। उसके बाद तो मैं बॉस से खूब खुलकर चुदने लगी। मैं हफ्ते में तीन चार बार तो बॉस से चुदती ही हूँ। अच्छा एक बात तो बताना ही भूल गई। मेरा प्रोमोशन हो गया है।

वैसे तरुन भी कभी कभी अपनी लुल्ली मेरे अन्दर डाल देता है। अब बर्फी खाकर गुड़ में मजा कहाँ रहता है?



loading...

और कहानिया

loading...


Online porn video at mobile phone


khetme chudaika maza kahani.comnisha beti ki xxx khanihindi xxx store bai bahan kal kalladki apni kahani Hindi mein Sunati Hai group mein chudai Nashe Meinhttp://googleweblight.com/i?u=//cu.hb-at.ru/erotiksexgeschichten/%25E0%25A4%259C%25E0%25A4%25B5%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%25A8-%25E0%25A4%25AD%25E0%25A4%25A4%25E0%25A5%2580%25E0%25A4%259C%25E0%25A5%2580-%25E0%25A4%2595%25E0%25A5%2580-%25E0%25A4%2597%25E0%25A5%258B%25E0%25A4%25B0%25E0%25A5%2580-%25E0%25A4%259C%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%2582%25E0%25A4%2598-%25E0%25A4%25A6%25E0%25A5%2587/&grqid=PSTRLH0K&s=1&hl=en-INsexi hot holi story didi ka sasuralladki ki gand ka ched kahani hindi me nonveg.com par sex ki chudaisex boor kahane hindeantrwasnasexstories.comhinde kahani six xxxx bhusdhahindi sex stories. chudayiki sex kahaniya. kamujjta com. antarvasna com/tag/bktrade. ru/page no 319मालीस ओर दबाने वाले वी vibeo xxxnadoi se chudi hindi kahanichide aur ki kahani in hindi beena aunty ki phuli hui pawwali chutmaa barrish mai chutxxx www dot com me mumbai randi bhabhi ka phon nokhumari ki chudai kahanidedi bibi sex vidioschudwaya fourner sehot sex stories. land chut chudayi sex kahaniya dot com/hindi-font/archiveबड़े लैंड से बीबी बुवा मम्मी मेरे सामने चुड़ै स्टोरीजChudi me chut Kya Mera Lagaland ki pyasi padosan bhind ki kahani hindihindi sex kahaniya/chudayiki sex kahaniya/tag/cu.hb-at.rubahan ki apne bhaiya ke sath khuli nangi battein aur nangi chudai ki kahaniकंचन बहू को गाली देकर चोदाचूत चुदाई की हिंदि सेकसी कहानिया2018 sotad swo pajebbada bur and guda xxx desi v.d.maa ki jabardasti chudayi ki hindi writing sexy story by hindi stories.comHindi sex stories..jabarjasti rishto me chudai nandoi ne jabarjasti chodaKamuktamanisha aante.ke XXX HINADE KAHANEmarathisex mam beta. kahanixxx ki kahani bhuaa ki ladaki piriyanka ki chudaiरीयल।चुदईthecharsex video desi audio hindi hindi didi ki jhantwali cute ki cudaiचुदाईxxx stori padane liyechut se bahta pani sex non veg hindi sex storyvidhva antiyon ke xxx cuhudai kahaniyan ful hinde mhindi sex kahanei bhabhi gवीवी की चुदाईpariwar me chudai ke bhukhe or nange logHot kahani of didi ke sath america mebhai ne meri baja dali storykutti bana k rakh diya sexy storykahto mame ke chudai ke xxx kahneyआल क्सक्सक्स स्टोरी हिंदी फ़्रैंड मदर मस्त रामmast Ram ki Juanita vidhwa anti ki chudai Hindi meAntarvasna latest hindi stories in 2018mom ke saat ek raat silpar bus marati kahaniआनटी की चोदाई काहानी कीराये के लीयेdoston aur uske maa kikahani anty our bete ki hindi new aex khaniyaमाया क कुवारी बुरhindi sex kahani chor ne choda sex ki kahaniहिंदी सामूहिक चुदाईकहानी पड़ोस की भाभी ने रंडी बनायाxxx hot girl chofai chut biz nikalana videoभाई के लण्ड लेने की तरकीबे लम्बी कहानी gaon k khet me didi ki gand mari storiesstorx 14saal kepuja ko choda hende me xxx imagesas bahu ki grup suday kahani loding जबरन।बूर।मे।लौड़ा।विडियोboor me dard ka bahana karke chudai ki kahani risto mexxx chudai ki khaniindianhotsexkahanikoi dekh rha he chudai hindi kahani antarvasnaसेक्स हिंदीमय चुत मे लोड़ा कामवासनासगे भाई से चुदाई की कहानियांsex 2050 kahni kiraye dar ki beti chodaisamalangik sex ki kahaniपेलने की कहानीxxx sister and dad ka balck mel kar ke kahaniya in hindiक्सक्सक्स स्टोरी हिंदी दोस्त दो बच्चों की माँma ne bahana bana karchudai ki kahani hindi meسكس باكستانसेकसी सटोरीghar aaye banje ko patakr chudavaya Hindi kahaniunti ki chudai khaniटेन मे चुदाई मूबीrehka ne karbai apni chudai dum se xxx hindi movieक्सक्सक्स करने भाबी से के upaisex hot steroy bhai behan kinadani me anckal ne choda storiland nude chusti untyhindi sex stories/bhudayiki sex kahaniya. antarvasna com. kamukta com/tag/page 68-98-158-208-318