पुलिस वाले ने चूत को चोदकर फाड़ दिया

 
loading...

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम महक है और मेरी उम्र 21 साल है. मेरी शादी को हुए करीब 6 महीने हुए है और आज में आप सभी चाहने वालों को मेरी खुद की एक सच्ची घटना सुनाने जा रही हूँ, जो कुछ समय पहले मेरे साथ घटित हुई, यह कोई फेंक कहानी नहीं है. दोस्तों मेरे पड़ोस में रहने वाले मेरे एक पड़ोसी ने मुझे लगातार घूर घूरकर देखना शुरू किया और पहले मैंने उस पर ज्यादा घ्यान नहीं दिया, लेकिन अपनी प्यासी तड़पती हुई चूत के सामने मुझे झुकना ही पड़ा और में उससे चुद गई.

दोस्तों मेरे पति का खुद का अपना व्यापार होने की वजह से उनको हमेशा लगातार दूसरे शहर में घूमना पढ़ता है और उस वजह से मुझे मेरे बहुत बड़े घर में अक्सर अकेले रहना पढ़ता है. मेरे फिगर का आकार 36-28-36 है और मेरी लम्बाई 5.6 है और अक्सर में स्कर्ट या जीन्स ही पहनना पसन्द करती हूँ, चलिए अब में अपनी आज की सच्ची कहानी पर आती हूँ.

दोस्तों मेरे घर पर मेरे पास ऐसा कोई ख़ास काम नहीं होता है, क्योंकि हमने घर पर काम करने के लिए एक नौकरानी रखी हुई है, वो हर दिन हमारे घर आती है और घर का सारा काम वही संभालती है, में बस कपड़े ही सुखाती हूँ, क्योंकि मेरे कपड़े कोई और छुए मुझे यह बिल्कुल भी पसन्द नहीं है और इसलिए में हर रोज़ की तरह उस दिन भी कपड़े सुखाने बाहर आई और कपड़े सुखाते हुए मैंने ध्यान दिया कि एक हट्टाकट्टा नौजवान मेरी तरफ बहुत देर से लगातार घूर रहा है.

फिर मैंने उसकी इस हरकत को बस ज्यादा ध्यान देकर में अपने कपड़े सुखाकर जल्दी से अंदर की तरफ आ गई. फिर में रोज़ की तरह टी.वी. देखती रहती या फोन पर गेम खेलती या ऐसे ही बैठी रहती. उस दिन भी मेरे पति अपने किसी काम के सिलसिले में कहीं बाहर गए हुए थे और तभी मुझे उस लड़के के बारे में ख्याल आ गया कि वो कौन होगा, जो मुझे ऐसे देख रहा था? तो यह बात सोचते सोचते मेरी उंगलियाँ मेरी चूत पर जा पहुंची और उसको ही अपने ख्याल में लाकर ना जाने कब से में चूत में उंगलियाँ करने लगी थी. मैंने सोफे पर ही बैठकर अपने सारे कपड़े उतार लिए और मुझे कोई डर भी नहीं था, क्योंकि में उस पूरे घर में अकेली थी.

अब में अपनी चूत पर उंगली को फेरने लगी, में अपने एक हाथ को चूत पर और दूसरे हाथ से मेरे बूब्स को सहलाने लगी थी, लेकिन कुछ देर बाद में जोश में आकर बहुत ज़ोर से उँगलियों को अपनी चूत के अंदर बाहर करके खुद को चोदने लगी और साथ साथ सिसकियाँ भी भरने लगी, उूउउईईईइ उफ़फ्फ़ उऊउक्कच उउम्माह और अब में बहुत ज्यादा गरम होने के कारण झट से आईई हहुउऊ उफफफ्फ़ करके झड़ गई और फिर में कुछ देर ऐसे ही लेटी रही.

उसके बाद में अपने कपड़े पहनकर ऐसे ही बैठ गई और अब यह मेरा हर रोज़ का काम हो गया था और में हर रोज़ उसे अपनी तरफ रिझाने के लिए छोटे छोटे कपड़े पहनकर बाहर जाती और में जानबूझ कर झुक जाती और फिर में आअहह की ज़ोर से आवाज़ लगाती, जिससे वो मेरी आवाज को सुन ले. दोस्तों अब यह मेरा हर रोज़ का काम हो गया था कि वो मुझे रोज़ ताकता और में जल्दी से काम करके जल्दी से अंदर की तरफ चली आती, वो मेरे पड़ोसी थे और ऊपर से पुलिस वाले.

मेरे पति अक्सर उनसे बातें किया करते और वो आदमी मुझे ऐसे ही ताकता रहता था. अब वो हर कभी मेरे घर पर आ जाता और बहुत देर तक बैठा रहता, इसलिए अब तक मेरे पति और वो बहुत करीबी दोस्त हो गये थे. एक दिन जब मेरे पति महीने भर के लिए कहीं बाहर जाने वाले थे तो उन्होंने मेरे उसी पड़ोसी से बोला कि तुम मेरी पत्नी का ख्याल रखना और यह बात कहकर वो चले गये. अब वो मेरे पति के जाने के कुछ घंटो बाद ही मेरे घर पर आ पहुंचा और वो मुझसे बोला कि भाभी जी कैसे हो आप? में उसकी यह बात सुनकर सकपका गई कि आख़िर में उसको क्या जवाब दूँ? और में कुछ सोचने लगी.

फिर वो मुझसे कहने लगा कि आप मुझसे इतनी डरती क्यों हो? क्या मैंने कुछ ग़लत किया है? तो मैंने बस ना में अपना सर हिला दिया और उससे बोला कि आप अंदर क्यों आए हो, मेरे पति तो इस समय घर पर नहीं है? तब उन्होंने मुझसे बोला हाँ जी मुझे सब पता है कि वो इस समय घर पर नहीं है, क्योंकि उसने खुद मुझसे आपका ख्याल रखने के लिए कहा है और उसने मुझसे बोला है कि आपकी जो भी ज़रूरत हो वो पूरी कर देना.

दोस्तों में उसके मुहं से यह सभी बातें सुनकर एकदम से बहुत चकित थी, क्योंकि इससे पहले मेरे पति ने कभी भी ऐसा नहीं कहा था, मुझे माफ़ करना दोस्तों में तो आप लोगों को बताना ही भूल गई कि उसका नाम कार्तिक था और उसकी उम्र करीब 32 साल होगी और देखने में वो एकदम फिट और उसकी लम्बाई 6.2 होगी. फिर उसने मुझे कुछ फल लाकर दे दिए और घर पर आकर बैठ गया.

दोस्तों में सच कहूँ तो उसका बहुत मस्त शरीर देखकर तो मेरी चूत वैसे ही अपना पानी छोड़ने लगती थी और तो और वो उससे चुदवाने के लिए भी तिलमिला उठती थी, शायद उसने यह देख रखा था.

फिर मैंने उसे पीने का पानी लाकर दे दिया और फिर में ठीक उसके सामने झुकी, जिसकी वजह से मेरे लटकते हुए बूब्स अब उसकी आखों के सामने थे और उसकी भूखी आँखें मेरे बूब्स के अंदर ऐसे पड़ी, जैसे वो मेरे बूब्स को अभी खा जायेगा. फिर में सही से खड़ी हो गई और फिर वो कुछ देर रुककर वापस चला गया.

में टी.वी. देखने लगी और तब तक शाम हो गई थी. दोस्तों में जब स्कर्ट पहनती हूँ तो मेरे झुकने की वजह से मेरी चूत के बहुत अच्छी तरह से दर्शन हो जाते थे, इसलिए मैंने उसके शाम को मेरे घर पर आने के बाद में जानबूझ कर किसी काम को करने के बहाने से पीछे की तरफ इस झुकी और वो यह नजारा कुछ देर देखकर झट से मेरे पीछे आकर खड़ा हो गया और वो मुझसे कहने लगा कि अरे भाभी जी क्या आप मुझसे डर गई? तो मैंने तुरंत सीधे खड़े होकर उससे कहा कि क्या हुआ? और मेरे इतना कहने पर ही उसने मुझे झट से अपनी बाहों में दबोच लिया और फिर दीवार की तरफ ले गया. सच दोस्तों मैंने कई दिनों से इस दिन का कितना इंतज़ार किया था? जो पूरा होने जा रहा था, लेकिन में एक शादीशुदा हूँ, इसलिए मुझे नाटक करना पड़ा इस हेंडसम मस्त लड़के को यह सब करने से रोकना पड़ा.

में : आह्ह्ह यह क्या कर रहे हो आप? प्लीज मुझे छोड़िए मुझे ऐसा मजाक बिल्कुल भी पसंद नहीं है.

कार्तिक : जी नहीं में बहुत दिनों से इस दिन का इंतज़ार करता आ रहा हूँ जानेमन, तूने मुझसे बहुत इंतजार करवाया है, लेकिन में तुझे अब ऐसे नहीं छोड़ सकता.

दोस्तों वो मुझसे यह बात कहकर मुझे चूमने लगा और मैंने उससे कहा कि प्लीज छोड़ दो मुझे, कोई आ जाएगा और हमें ऐसे देख सकता है. में उससे बहुत बार आग्रह करने लगी, लेकिन उसने मेरी एक भी ना सुनी और वो मुझे लगातार चूमता गया, अब क्या था? फिर मैंने भी कुछ देर बाद उसके सामने हार मानकर उसकी तरफ पलटकर उसको बेड की तरफ धकेल और ताबड़तोड़ किस करने लगी थी. जिसकी वजह से पूरे घर में म्मूुआआह उमाहह उफ़फफुऊ उम्म्म आअहहहह की आवाज़ गूंजने लगी थी.

दोस्तों मेरी शादी मेरे घरवालों ने ज़बरदस्ती करवाई थी और उस वजह से मैंने कभी भी अपने पति को मुझे छूने नहीं दिया था और मेरी शादी के बाद यह मेरा पहला किस था, जो बहुत जोश भरा था और अब तक हम दोनों एक दूसरे में बिल्कुल मदहोश हो गये थे. मैंने उसकी शर्ट को जोरदार झटका देकर फाड़कर उसके बदन से अलग कर दिया था और अब में उसकी छाती को चूमने चूसने लगी थी.

उसने मेरी स्कर्ट को बहुत ही बेरहमी से उतारकर फेंक दिया था और अब मेरे दिमाग़ में चल रहा था कि हम किस करते वक़्त ही एक दूसरे में इतना खो गये थे तो चुदाई के वक़्त हमारे साथ क्या होने वाला है? इतने में दरवाजे पर बाहर लगी घंटी बज गई और उसकी आवाज को सुनकर में तो एकदम से चौंक गई. मेरे चेहरे से डर की वजह से पसीना आने लगा और उसका भी ठीक यही हाल था. उसके भी चेहरे का रंग बिल्कुल उड़ा हुआ था और अब में सोचने लगी थी कि ना जाने इस समय बाहर कौन होगा.

अब में और वो एक दूसरे को देखने लगे थे. फिर मैंने बहुत हिम्मत करते हुए अंदर से ही एक आवाज़ लगाई और पूछा कि कौन है? तो मुझे बाहर से आवाज आई, जिसको सुनकर में तुरंत समझ गई कि वो मेरी नौकरानी थी, इसलिए मैंने झट से उसको जवाब दे दिया कि आज कोई काम नहीं है तुम कल आ जाना और वो वहीं से वापस चली गई और उसके जाते ही हम दोनों एक दूसरे की तरफ देखकर हंस पड़े और अब हम एक दूसरे को लगातार ऐसे ही देखते रहे और उसके बाद हमारी बात चालू हुई.

में : क्या आपकी शादी हो गई?

कार्तिक : जी अगर हो गई होती तो क्या में आपके पास इधर आ पाता? वैसे आप ऊपर से लेकर नीचे तक बहुत सुंदर हो और में बहुत दिनों से आपको ऐसे ही ताकता आ रहा हूँ और वो मौका मेरे हाथ आज लगा है.

फिर दोस्तों उसके मुहं से मेरी इतनी तारीफ सुनकर में शरमाते हुए हंस पड़ी और अब में ऐसे ही बिना स्कर्ट के चलने लगी और में स्कर्ट खोजने लगी. फिर ऐसे मुझे चलता देखकर झट से पीछे से गले लगाकर उसने मुझसे कहा कि इस दिन का मैंने बहुत दिनों से कितना इंतज़ार किया है?

अब मैंने उससे कुछ भी नहीं बोला और बस में उसको लगातार देखती रही और में इतने में उसकी गोद में छोटे बच्चो की तरह समा गई थी और वो मुझे अपनी गोद में लेकर हॉल में पहुंच गया और अब वो मुझे दोबारा चूमने लगा. इस बार में भी शुरू से ही उसकी मदद करने लगी थी. अब कभी में उसके ऊपर तो कभी वो मेरे ऊपर आ जाता. हम एक दूसरे के अंदर समा रह थे और पूरे घर में बस एम्म मुऊऊ आअहह उूुउउउउंम की गूँज फेली हुई थी.

फिर जैसे ही उसने पूरे दम से मेरे बूब्स को दबाया तो में उस दर्द की वजह से चिल्ला उठी और उस जोरदार चीख को सुनकर उसने मेरे होंठो को अपने होंठो से बंद कर दिए, जिसकी वजह से मेरी आवाज अंदर ही दबकर रह गई और उसने एक बार फिर से मेरे बूब्स को दबाना शुरू कर दिया.

उसने मेरी स्कर्ट को तो पहले से ही किसी कोने में फेंक दिया था और अब उसने मेरे टॉप को भी उतारकर फेंक दिया था और अब में अपनी जालीदार लाल कलर की ब्रा में उसके सामने लेटी हुई थी, मेरा बेड स्प्रिंग वाला होने की वजह से हम उसमें दबते ही जा रह थे, क्योंकि कार्तिक मुझ पर हावी होने लगा था, उसने अपना पूरा शरीर मुझ पर एकदम ढीला छोड़कर मेरी चुम्मि लेने लगा था, जैसे कि उसने कई सालों से किसी को चूमा ना हो.

अब धीरे धीरे उसने मेरे गले को चूमते हुए वो मेरे बूब्स पर पहुंच गया और अब मेरे बूब्स उसके दोनों होंठो पर थे और में अपनी दोनों आखें बंद करके इस सारे अनुभव के मज़े ले रही थी और उसके साथ साथ में ज़ोर ज़ोर की सिसकियाँ भी ले रही थी.

दोस्तों जैसा कि मैंने पहले आपको बताया था कि हमारा घर बहुत बड़ा है और वहां पर इतनी शांति होने की वजह से मेरी आवाज़ गूंजने लगी थी, में आआयुम्मम उफ्फ्फफ्फ्फ़ कहती तो दुबारा मुझे मेरी आवाज़ मेरे कानों में सुनाई पड़ती और वो लगातार मेरे बूब्स को खाए जा रहा था और में अपने हाथों से उसके बालों को पकड़कर अपने बूब्स पर और भी ज़ोर से दबाने लगी थी, जिसकी वजह से वो और भी ज़ोर ज़ोर से मेरे बूब्स को अपने मुहं से चूसते हुए मेरी निप्पल को निचोड़े जा रहा था और मैंने बहुत ज़ोर से उसे जकड़ा हुआ था.

ऐसा मैंने पहले कभी किसी को भी ना पकड़ा था, वो मुझे ऊपर चूमता, लेकिन मैंने अपना पैर पहले ही फैला रखे थे, जिस वजह से उसका लंड अब मेरी चूत पर रगड़े जा रहा था, में और भी ज्यादा पगलाती जा रही थी और एकदम मदहोश हो बैठी थी, में उससे बस कहने लगी कि काश तुम मेरे पास पहले आते तो मेरी शादी तुमसे ही होती और अब तक तो में गर्भवती भी हो गई होती, में तुमसे बहुत प्यार करती हूँ बेबी और वो भी मुझसे हाँ में भी तुमसे बहुत प्यार करता हूँ बेबी, कहकर उसने मेरे बूब्स को काटा और वो नीचे मेरी नाभि पर पहुंच गया.

अब वो मेरी नाभि को चूमने चाटने लगा, में तो उसकी वजह से बिल्कुल तड़प ही उठी. दोस्तों ऐसा मैंने कभी भी महसूस नहीं किया था और में वर्जिन तो नहीं हूँ, लेकिन पिछले एक साल से में नहीं चुदी थी और ना ही ऐसे बंदे ने मुझको कभी ऐसे चूमा चाटा था. अब उसने मेरी चूत पर अपनी एक ऊँगली को रख दिया और उसके स्पर्श से में तो उसी पल कांप उठी.

दोस्तों मैंने महसूस किया कि उस बंदे में बहुत ही अलग सा नशा था, ना जाने क्यों वो मुझको इस एक घंटे में इतना पसन्द आने लगा था? और उसकी उँगलियाँ जो मेरी चूत को छू रही थी, वो भी मुझे बहुत अच्छी लगने लगी थी. अब वो धीरे धीरे नीचे आते हुए तुरंत मेरी चूत के पास पहुंचकर वो अब अपनी जीभ से मेरी चूत को चाटने चूसने लगा था और में बस आअहहुउ उम्म्मउूउउ उफ़फ्फ़ हाँ उउक्ककक बेबी प्लीज़ मेरे चूत में अब जल्दी से अपना लंड डाल दो, उफफ्फ्फ्फ़ प्लीज अब में ज्यादा और नहीं सह सकती कहने लगी थी और अपनी सिसकियों की आवाज़ को सुनने लगी.

उस समय दोस्तों मुझे बिल्कुल भी होश नहीं था कि मेरी चीखने चिल्लाने की आवाज़ बाहर तक भी जा सकती है, में तो बस आज उससे अपनी चुदाई करवाना चाहती थी. अब वो मेरी चूत को और भी ज़ोर ज़ोर से चाटने लगा था. तभी मैंने अपने दोनों पैरों को पूरा फैलाकर उसका सर पकड़कर अपनी पूरी ताकत लगाकर उसका मुहं मेरी चूत पर दबा लिया, जिसकी वजह से उसकी जीभ पूरी अंदर तक जा पहुंची और मैंने एकदम से उसको जकड़कर उसके मुहं पर अपनी चूत का गरम गरम पानी छोड़ दिया, जिसकी वजह से उसका पूरा मुहं मेरे चिपचिपे गरम माल से भर गया और उसने बड़े प्यार से मेरा सारा पानी गटक लिया और फिर ऊपर मेरे मुहं के पास आ गया, उसने मेरे होंठो पर अपने दोनों गीले होंठ रख दिए और वो मुझे किस करने लगा.

दोस्तों मैंने आज पहली बार अपनी चूत का रस चखकर देखा था और वो बहुत ही नमकीन सा लग रहा था और फिर उसे चूमते हुए मैंने उसको नीचे जमीन पर गिरा दिया और अब में उसके ऊपर चड़कर उसे चूमने लगी और कुछ देर चूमते हुए में नीचे आ गई और जब मैंने उसके लंड देखा तो में बिल्कुल ही दंग रह गई, क्योंकि दोस्तों उसका लंड करीब 6 इंच लंबा और करीब 3 सेंटीमीटर मोटा था, इसलिए वो मेरे मुहं में पूरी तरह से घुस भी नहीं रहा था, शायद यह बात कार्तिक को अब समझ में आ रही थी, इसलिए वो आधा उठा और मुझे किस करते हुए गोद में उठाकर बेड पर ले आया और उसने मुझे लेटा दिया और मेरे ऊपर आते ही उसने मेरे सर पर किस किया और उसके बाद मेरे होंठो को किस किया और फिर उसने अपने लंड को मेरी चूत के मुहं पर सेट किया.

तब मैंने उससे कहा कि बेबी बहुत मोटा है आपका, प्लीज मेरा थोड़ा सा ख्याल जरुर रखना. फिर उसने स्माईल करके मुझसे कहा कि तुम्हें कुछ भी नहीं होगा मेरी जानेमन, में हूँ ना और फिर वो सेट करके मेरे चेहरे के पास आ गया. उसके बाद उसने अपने लंड को अंदर डालने की बहुत कोशिश की, लेकिन मेरी चूत ठस से मस ना हुई उसने अपना पूरा दम लगाया, लेकिन मेरी चूत का आकार बहुत छोटा था, इसलिए लंड हर बार फिसल जाता और अब में अपनी चुदाई के लिए बहुत बेताब हुई जा रही थी. फिर मुझे एक बात सूझी और मैंने उसके लंड को अपनी जीभ से चाटकर उस पर बहुत सारा अपना थूक लगाकर उसको एकदम गीला कर दिया और फिर मैंने उससे कहा कि अब तुम इसे प्लीज़ जल्दी से मेरे अंदर पूरा उतार दो.

फिर कार्तिक ने बड़े प्यार से मेरी चूत के मुहं पर अपना टोपा रखा और धीरे से अंदर की तरफ दबाव बना दिया, जिसकी वजह से उसके लंड का टोपा मेरी चूत के अंदर जा पहुंचा और उतने में मेरे मुहं से बहुत ज़ोर की चीख निकल पड़ी, उफ्फ्फ्फ़ आईईई माँ में मर गई, प्लीज थोड़ा धीरे करो, मुझे बहुत दर्द हो रहा है, में इस दर्द से मर जाउंगी उूुुउउ एम्म्मएम्म उउंमम्‍मा प्लीज अब तुम इसको बाहर निकाल लो, मुझे इसके आगे कुछ नहीं करना आह्ह्हह्ह्ह्ह.

फिर कार्तिक ने झट से मेरे होंठो को अपने होंठो से बंद कर दिया और वो कुछ देर तक मेरे बूब्स को सहलाने लगा, उसने मेरे पूरे शरीर को अपने हल्के हाथ से सहलाया और में थोड़ा सा शांत लगने लगी, तब वो एक बार फिर से धीरे धीरे मेरी छोटी सी चूत में अपना मोटा लंबा लंड जबरदस्ती ठूंसने लगा था और अब उसका लंड मेरी चूत में आधा अंदर था, जिसकी वजह से मुझे अपनी चूत में एक अजीब सी जलन होने लगी थी, उसके लंड ने मेरी चूत की दीवारों को अंदर से पूरी तरह से जबरदस्ती घिसकर छिल दिया था और यह उसी का नतीजा था.

लंड अब मेरी चूत के अंदर था और में लगातार ज़ोर ज़ोर से चिल्लाए जा रही थी, आअहहह उूउउउउफफफ्फ़ उूउउएम्म्म एम्म्म उउउक्च्छ हुउूहह. दोस्तों अब में थोड़ी सी शांत हुई तो कार्तिक ने फिर से अपना लंड थोड़ा और अंदर घुसाया और वैसे ही मेरे ऊपर लेट गया. में उसके गरम लंड को महसूस कर रही थी और अब में भी झड़ने लगी, लेकिन मुझे उससे चुदना ही था, इसलिए मैंने उससे कहा कि प्लीज बेबी अब चोदो ना मुझे में कब तक और इंतजार करूं, जल्दी से चोद दो मुझे और अपना बना लो आह्हह.

फिर वो मेरी यह बात सुनकर बहुत खुश हो गया. उसने मुझसे यह बात सुनकर और एक बार जोरदार धक्का देकर अपना पूरा 6 इंच का मोटा लंड पूरा मेरी चूत के अंदर डाल दिया, जिसकी वजह से में एकदम से चिल्ला उठी, आआहहहुउ उउफफफ्फ़उू उउईईईईईइ माँ मर गई, आउूउचहह और में बोलने लगी कि नहीं प्लीज अब तुम इसको बाहर निकाल दो, उफ्फ्फफ्फ्फ़ माँ मुझे बहुत दर्द हो रहा है वरना में मर ही जाउंगी प्लीज़, लेकिन अब क्या था? उसने मेरी एक भी बात को नहीं सुना और अब बस वो मेरी चूत में ज़ोर ज़ोर के धक्के मारने लगा और लगातार मेरी आवाज़ निकलती रही, आआहह हुउऊउफफफ्फ़ उूईईईईईई उउउफ़फ्फु.

अब मैंने उसे ज़ोर से जकड़ा हुआ था, वो मेरी चूत में अपने लंड को घोड़े पर सवार की तरह उचक उचककर धक्के देते हुए चोदे जा रहा था और कुछ समय बाद मुझे भी आनंद आने लगा था, जिसकी वजह से में भी अब उसके साथ साथ नीचे से अपनी चूतड़ को उठा उठाकर धक्के देने लगी थी और में अपनी कमर को उठाकर उससे चुदने लगी.

दोस्तों अब बहुत समय हो गया था तो भी कार्तिक मुझे लगातार धक्के देकर चोदता जा रहा था, वो बिल्कुल भी रुकने का नाम ही नहीं ले रहा था, पता नहीं उस पर कौनसा भूत सवार था, में इस बीच ना जाने कितनी बार झड़ गई थी, मुझे इस बात का बिल्कुल भी पता नहीं था, अब पूरे रूम में हम दोनों के नंगे बदन के टकराने की फच फच फच की आवाज़ और मेरी सिसकियों की आवाज़ गूंजने लगी थी. पूरे एक घंटे तक में उसी के नीचे लेटी हुई चुद रही थी और वो भी बहुत जोश में आकर मुझे चोदे जा रहा था. फिर कभी में उसको किस करती तो कभी वो मुझे किस करता तो कभी वो मेरे बूब्स को चूमता और कभी उसे जमकर पकड़कर निचोड़ देता तो कभी वो मेरे बूब्स पर अपना सर रखकर उस पर लेट जाता. दोस्तों वो जो भी मेरे साथ करता में उसका पूरा पूरा साथ देती जाती.

अब इस तरह दोस्तों मेरी शादी के बाद की पहली चुदाई खत्म हुई, जिसमें मैंने अपने पड़ोसी पुलिस वाले का मोटा लंबा लंड लेकर उससे अपनी चुदाई के पूरे पूरे मज़े लिए और उसको जोश में लाकर अपनी उससे जमकर चुदाई करवाई और अपनी प्यासी चूत को चुदवाकर शांत किया.



loading...

और कहानिया

loading...
3 Comments
  1. August 20, 2016 |
  2. August 20, 2016 |
  3. Siddharth wankhade
    August 21, 2016 |

Online porn video at mobile phone


garmi ki chuti ome khet me choda chodiक्सक्सक्स हिन्दी कहानी कैश कॉमkutte ke sath sex khaniखेल खेल में स्कूल चुदाई कहानीdisikhanixxx chudai ki chillahat vidioपहिलि बार चुदाइsxe हिँदी कहानीसेक्स कहानी भाई बहन कीSex or घर कहानीनोकर कि बीवी के सात xnxxkamukta meri maa ko dost ne choda hindi kahani aodio stori kahani xxx .comhindi sex stories/chudayiki sex kahaniya. antarvasna com. kamukta com/chudayiki sex stories. kamukta com. indian adult sex stories/bktrade.ru/tag/page no 20 to 321/archivexxx randi ki condom chda hua land photo.comjanu bhabhi hot sexypuja bhavi ki bur choda xxx hot story hindihindi kahani sexiमसत राम की सबसे सैसी कहानीbehen-ka-sahara-bana-bhai nude.jpgwwwxxxsasu downloadgarls x kahaniyaकुवारी चुत की चुदाईsexstorysbap betimuje bandh ke gangvang sex stoey hindima bete ki xxxi story with photoxnx anthrwasana sex kahanebarish ki raat me sex ki hindi storyचची ं मेरा लंड हाट म पकड़ामाँ बेटा नविन सेक्स सी video 2018dost ki ladhki sex vedio hdममी ने 9 इच की लंड लीयाशेकश शटोरि टिचरkamukta gang bang sex story bhai ke dosto NE jbrdsti chhoda cache:-TC4HNi2TfkJ:bktrade.ru/garmi-ki-raat-papa-ke-saath-saheliya-dekhti-rahi-me-chudvati-rahi-xxx-kahani/ HINDI NEW KHANI Xrandi khabbhai nay goli khake bahen ko choda storychacha/jija se seal tudwai kamukta.comआटि कि चूदाइ जबर जस्तdaijest antrwasnaमां की मीठी मीठी चुदाई xxx कहानियां 2018chudahi storyसकसी मासी मा चूदाई क.comविडियो बिबि को दो बचचो ने चोदा सेकस सेकसभाई बहन कि चुदाई का सफरgf ke naa bolne pr bhi ki chudai storyantarvasna junagadhxxx didi,car storieskiner sex kia kiner ke boobs or lun dono hote haPORNKA XX STORY HINDI LODAdada tauji ka shat hinde x kaniyaawrat.ne.awrat.ko.cudane.sala.di.xxx.kahanixxx beteki gadh marnekawww.xxxgay desi gon ki gandu sex kahani hindirupam anil ke chudai khanima chudi amerikan she group me khani Hindipariwar me chudai ke bhukhe or nange loghindi xxxstori kamuktaxxx maa k chod k bacha payda kiyajanwsr kah saath ladki ka saxy movisnaukarhindisexstoriesगन्दा सेक्स भाई बहिन का बीस साल की बहन के साथ पंद्रह साल की बहन भी चुद गई भाई सेhinde sax khanexxxdase kahinekamuktaगांड मार दिया बच्चे नेma aur unki chuddkd sheliyo ko party me choda sex storyxxx chut storiesSAKAX KAHANEYAबहन कि बुर का चुदाइ कि औडियोChoti Umar ki chudai ki kahaniya Hindi maisex story app (Parul aunty ki gand kaise maaemri)dost ki bhan ko choda xnx khanikamukta