पति से न मिले तो नौकर से चुदवाकर प्यास बुझाती



loading...

मैं राजश्री आज आप के लिए एक मस्त कहानी ले के आई हूँ. मेरी उम्र 27 बरस की हे और मैं एक हाउसवाइफ हूँ. वैसे मेरी लाइफ में सब कुछ हे, पैसा, बगंला गाडी, नोकर चाकर. लेकिन एक औरत के नजरिये से देखूं तो लाइफ में कामरस नहीं हे बस! पति का अच्छा बिजनेश हे जो की मेरी सबसे बड़ी सौतन हे! बिजनेश की वजह से वो घर से और मेरे से दूर जो रहते हे!

पति के सिवा सुख और मजे करने की सब चीज हे मेरे पास. लास्ट इयर की बात हे. तब मेरे पति लंदन की ट्रिप से आये. और अभी एक ही दिन हुआ था की फिर दिनभर उन्के फोन चले. शाम को खाने के टेबल पर अपने लेपटोप में कुछ इधर उधर करते हुए वो बोले, राजश्री मुझे कल इवनिंग में यु.के निकलना हे एक महीने के लिए. एक नया क्लाइंट बन सकता हे वहां पर.

रात को मैं इतना रोई की मेरा तकिया तक गिला हो गया था. शराब की पूरी बोतल पी गई. पति रातभर कमरे में आये ही नहीं. उनके लंड को देखे ज़माना हो गया था मुझे. शराब और दिल के दर्द ने तबियत ख़राब कर दी मेरी! हॉस्पिटल में भी मुझे घर का नोकर शंभू ले के गया. डॉक्टर ने कुछ घंटे एडमिट किया. शंभू वही पर रहा जब तक मैं एडमिट थी. मैंने उसे बुलाया और उसको कहा, शंभू थेंक यु तुमने मेरे लिए ये सब किया उसके लिए.

शंभू ने कहा, भाभी हम तो आप के नोकर ही हे और आप की सेवा करना ही हमारा कर्तव्य हे. हम गरीब हे और मजबूर इसलिए बीवी बच्चे सब छोड़ के यहाँ शहर में आये हे और आप के पास पैसे हे लेकिन आप की मज़बूरी कैसी हे की आप का पति आप के पास नहीं हे. ऐसे में अकेलापन अंदर से मार देता हे तो मुझे पता हे. आप भी अकेली हे और हम भी!

मेरी आँख में पानी आ गया उसकी बात सुन के.

मैं अपने पर्स में से 2000 के दो नोट निकाले और उसे देते हुए कहा, जाओ मैं छुट्टी देती हूँ तुम घर हो आओ.

वो बोला: नहीं मेडम अभी साहब महिना भर बाहर रहेंगे फिर आप खूब ड्रिंक करेंगी जैसा की आप करती हे. फिर आपका ध्यान भी तो रखना हे. पैसे के लिए शुक्रिया, वो हम अपनी बेटी के लिए घर भेज देंगे. उसकी बाते मेरे दिल के आरपार सी हो गई. मैंने सोचा की ये गरीब हे और मज़बूरी में अपने पपार्टनर से दूर हे और मेरा पति पैसे के लिए मुझे छोड़ रहा हे. मुझे लगा की शंभू भी ऐसे ही तडप रहा था जैसे मैं. मुझे एक पल के लिए लगा की हम दोनों एक ही कश्ती के सवार थे और उस वक्त मुझे एक नंगा विचार आया की क्यूँ न हम दोनों मिल के एक दुसरे की इस तडप को दूर कर ले! और उस दिन मेरी निगाहें अपने इस नोकर के लिए बदल सी गई.

एक दिन शंभू घर में सफाई के काम में लगा हुआ था. उस समय उसका बदन आधा नंगा सा था. उसने एक हाल्फ-पेंट पहनी हुई थी. उसके मांसल हाथ और गदराये से बदन को देख के मेरे मन में गुदगुदी सी होने लगी थी. मैंने सोच लिया की आज तो कुछ भी कर के शंभू के साथ मिल के अपनी प्यास को दूर करवा लुंगी!

रात में वो कमरे में आया और बोला, मेडम खाना रेडी हे आप के लिए टेबल पर निकालूं?

मैंने कहा, एक काम करते हे न.

वो बोला, क्या भाभी?

मैंने कहा, मेरे पैरो में बहुत ही दर्द सा हो रहा हे इसलिए खाने के मूड नहीं हे. तुम गरम तेल की मसाज कर सकते हो मेरे लिए?

वो बोला: मैं अभी सरसों का तेल गरम कर के लाता हूँ.

मैं उस वक्त गाउन पहन के बैठी हुई थी. उसके आने से पहले मैं बिस्तर में लम्बी हो गई. शंभू 2-3 मिनिट में ही एक कटोरी के अन्दर तेल ले के आ भी गया. मैंने अपने गाउन को ऊपर कर के अपनी चिकनी जांघे उसके सामने खोल दी और कहा, आ जाओ मुझे मालिश करके मेरे दर्द को दूर कर दो. शंभू ने मुझे देखा और बोला, जी भाभी जी और वो मेरे पास बैठ के सरसों का तेल मेरे पैरो के ऊपर लगाने लगा.

मैं उसे देख के अन्दर से कराह रही थी. और अपने गाउन को और भी ऊपर कर दिया ताकि वो देख सके मेरी जवानी को.

शंभू की निगाहें बार बार मेरी जांघो के ऊपर जा रही थी. मेरी पेंटी भी बहार से दिख रही थी. मैं खुद ही दिखा जो रही थी. शंभू की ग्रिप मेरी जांघो के ऊपर तेज होने लगी थी. फिर मैंने अपनी पेट के बल लेट के अपनी कमर उसकी तरफ की और कहा, शंभू पीठ के ऊपर भी तेल और अपने हाथ का जादू दिखा दो. वहां पर भी दर्द हो रहा हे.

शंभू ने गाउन को थोडा और ऊपर कर दिया और वो पीठ के ऊपर उँगलियों से दबा के मसाज करने लगा. मैं आईने में देख रही की वो बार बार मेरे उठे हुए चूतड़ को देख रहा था और मेरी ब्रा की पट्टी भी उसकी निगाहों की रडार में थी. मैं उसके अंदर के मर्द को जगाने में धीरे धीरे सफल हो रही थी. मैंने कहा, शंभू रुको मैं ब्रा को खोल दूँ ताकि वहां निचे मसाज दे सको तुम.

शंभू के लिए मैंने अपनी ब्रा के हुक को खोला और वो अब कंधो तक हाथ घुमा के मसाज देने लगा था. उसके हाथ अब कांपने लगे थे. फिर मैं सीधी हो गई. मेरे बूब्स शंभू के सामने थे. उसने मुझे देखा और मैंने कहा, उन्के ऊपर भी तेल लगा ही दो अब तुम!

शंभू बोला: भाभी ये क्या हो रहा हे!

मैंने कहा, कुछ नहीं अपने शंभू से मसाज करवा रही हूँ!

वो चुचियों को हाथ लगाने से जैसे घबरा रहा था. मैंने उसके हाथ अपने हाथ में लिए और खुद उन्हें अपने बूब्स के ऊपर रख दिया और मैंने उसे कहा, घबराओ नहीं, इनकी भी मालिश कर दो, तुम्हे अच्छा लगेगा! दोस्तों आप ये कहानी मस्ताराम डॉट नेट पे पढ़ रहे है।

शंभू ने मेरे बूब्स को हलके से दबाया. मेरे अंदर की औरत को जो सुकून मिला वो मर्दानगी से बहरे हुए टच से वो मैं आप को लिख नहीं सकती हूँ! मेरे अंदर सेक्स की इच्छा एकदम से जाग्रत हो गई थी.

मैंने दबे हुए आवाज में कहा, तुम्हे जो नहीं मिला हे इतने दिनों से वो मुझे भी नहीं मिला हे!

वो हिचकिचाते हुए सिर्फ एक ही शब्द बोल सका, क्या?

मैंने कहा, प्यार!

वो कुछ कहे उसके पहले ही मैंने उसके लंड को पकड़ लिया और बोली, आज मना मत करना, अगर तुम मेरी सेवा को अपना कर्तव्य समझते हो तो मुझे अपनी बीवी की जगह दे दो आज के लिए. मैं तुम्हारा अहसान नहीं भूलूंगी कभी भी.

 

मैंने उसके लोडे को खोल के बहार निकाला. वो हां कहता हे या ना उसकी वराह देखें बिना ही मैंने उस कडक लंड को अपने मुहं में भर लिया. और वो लंड मेरे मुहं में जाते ही और भी तेवर में आ गया. वो फूलने लगा था. और शंभू के मुहं से सिसकियाँ निकल पड़ी!

मैंने लंड को चूसते हुए उसकी पेंट को उतार के फेंक दिया. और उसके पुरे लोडे को मैंने मुहं में भर के चुस्से लगाए. बहुत दिनों के बाद मेरे हाथ में किसी का लंड था! उसका लंड भी काफी बड़ा था और मैं आधे से लंड को ही अपने मुहं के अन्दर भर पा रही थी. मैंने उसके अंड्डे भी पकड़ के दबाये और वो कराह उठा. उसके अंडे चुसे तो उसके मुहं से सिस्कारियां छुट गई. उसने मेरे मुहं को पकड लिया और मेरे मुहं के अंदर अपने लंड को झटके देने लगा.

मुझे उलटी जैसा हो गया उसका 80% लोडा मेरे मुह में घुसते ही. मैंने लंड को बहार निकाल के उसे कहा, धीरे से करो ना शंभू वरना मैं उलटी कर दूंगी. शंभू ने कहा ठीक हे भाभी. और फिर वो स्लोली स्लोली माउथ को चोदने लगा मेरे. लेकिन एक मिनिट में वो फिर से एक्टिव हो गया और कस कस के मेरे मुहं को चोदने लगा. उसका लंड मेरे गले तक घुस गया था. मुझे मजा भी आ रहा था लंड को ऐसे चूस के इसलिए मैंने अब उसे कुछ भी नहीं कहा.

फिर शंभू ने कहा, भाभी अब अपनी योनी दिखा ही दो मुझे.

मैंने अपनी पेंटी को खिंच लिया टांगो को ऊपर कर के. और उसे कहा, ये लो देख लो इसे.

शंभू की निगाहें मेरी योनी के उपर गड गई थी जैसे. वो बोला, आप की तो बहुत ही गोरी हे!

मैंने कहा, क्यूँ अच्छी नहीं लगी तुम को?

वो बोला, नहीं मेडम हमने इतनी गोरी चूत को कभी नहीं देखा हे. आप की योनी बड़ी ही खुबसुरत हे.

मैंने उसके लोडे को पकड़ के हिलाया और कहा, सुंदर लगी तो ले लो तुम इसे!

मैं उसे ये कह के अपनी टाँगे खोल के बिस्तर में लेट गई. शंभू मेरे ऊपर आ गया और उसने अपने लंड को इतनी फ़ोर्स से मेरी चूत में घुसाया की मैं आह कर गई. मुझे बहुत सारा पेन हुआ और मेरे मुहं से आह निकल पड़ी. और शंभू मेरी चूत के ऊपर भूखे शेर के जैसे टूट पड़ा. मैंने अपनी चूत को कस लिया था ताकि उसके झटके कम लगे. लेकिन उसका फ़ोर्स ऐसा था की मेरी मसल टिक नहीं सकी. उसका पूरा लंड जोर से मेरी चूत को खोल के अंदर घुस आया. और वो मुझे होंठो के निचे और कान के ऊपर चुमते हुए चोदने लगा. उसका बड़ा लंड मेरी बच्चेदानी में जा के लग रहा था और मुझे एक अलग ही सेंसेशन आ रही थी. ऐसी फिलिंग मुझे कभी अपने पति के साथ सेक्स करने से नहीं मिली!

मैंने उसे कहा, धीरे से चोदो ना शंभू बहुत बड़ा हे तुम्हारा तो.

वो बोला, हां भाभी धीरे से करता हूँ.

वो अब अपने लंड को धीरे धीरे से चूत में अंदर बहार कर रहा था. मेरे अंदर भी नयी ऊर्जा आ रही थी जैसे. और फिर मेरी चूत ने उसके लंड के ऊपर ही अपना रस छोड़ दिया. और उसकी वजह से चूत में लुब्रिकेशन हो गया और उसका लंड आराम से मेरी चूत में अंदर बहार होने लगा था. वो अपने लंड को बिच बिच में पूरा बहार निकाल के वापस अंदर डालता था. और ऐसे करने से मेरी उत्तेजना एकदम से बढ़ जाती थी. उसके लंड के मेरे क्लाइटोरिस के ऊपर घिसने से जैसे एक अलग ही खुजली उमड़ पड़ती थी मेरी चूत के अंदर.

मैंने उसके माथे को अपनी तरफ खिंच के उसके होंठो को किस कर लिया. और वो भी अपनी जबान को मेरे मुहं में डाल के चाटने लगा. फिर वो पागलों के जैसे मेरे कंधे को, गर्दन को और होंठो को किस करने लगा. मेरे तो तन बदन में जैसे आग सी लगी हुई थी. शंभू ने अब मेरे बूब्स को मुहं में लिए और उन्हें एक एक कर के चूसने लगा. वो निपल्स को उँगलियों से भी हिला के दबाता था. और उसके लंड का मेरी चूत में रगड़ लगाना तो चालु ही था इस सब के बिच में भी.

कुछ ही देर में उसके झटके एकदम तेज हो गए और साँसे भी. मेरी हालत भी कुछ ऐसी ही थी. मेरी चूत इतनी भीग गई थी और उत्तेजित हो गई थी की उसका पूरा लोडा अंदर जाता था तो मुझे मस्त लगता था. मैंने चूत के होंठो को उसके लंड के ऊपर जकड़ के लंड को गिरफ्तार कर लिया और वो मुझे पकड़ के जोर जोर से चोदने लगा. मेरी चूत के अन्दर का पानी छुट के शंभू के लंड पर आ गया.

मुझे एक अजीब सा मीठा मीठा दर्द होने लगा था. मैं उसके कंधो के ऊपर आ गिरी और वो भी मुझे चुमते हुए आखरी झटको के मजे देने लगा. और ये आखरी झटके ही सब से सेक्सी होते हे वैसे. शंभू पुरे जोश में चोद रहा था. और उसके माथे के ऊपर का पसीना मेरे ऊपर टपक गया. उसके लंड से पिगला हुआ धातु निकल गया जैसे मेरी चूत के अन्दर. उसने इतना ढेर सारा माल निकाला की मेरी चूत से ओवरफ्लो होने लगा था. मैंने उसके बालों में अपनी फिंगर्स घुमाई और वो आखरी रगड़ देने लगा मुझे. मैंने चूत को एकदम कस लिया था ताकि वीर्य बहार ना निकले!

फिर उसने धीरे से अपने लंड को बहार निकाला और अपनी हाफ पेंट पहन ली उसने. उसने मुझे मस्तक के ऊपर चूम लिया और बोला, बीबी जी बहुत बहुत धन्यवाद आप का जो आप ने मुझे इस लायक समझा. दोस्तों आप ये कहानी मस्ताराम डॉट नेट पे पढ़ रहे है।

मैंने उसे गर्दन से पकड के उसके होंठो को चूम लिया और उस से कहा, तुम्हे कैसा लगा शंभू?

वो बोला, बहुत मजा आया भाभी जी.

फीर वो मुझे अपनी बाहों में उठा के बाथटब में ले गया. वहां उसने मेरे बदन को घिस घिस के साफ़ किया. मैंने मौका देख के उसके लंड को फिर से खड़ा कर दिया. पुरे दो घंटे तक फिर हम दोनों बाथटब में एक दुसरे से चिपके रहे.

शंभू अब मेरे कमरे में ही रहता हे दिन भर. उसका सेलरी अब पहले से चार गुना हो गया. एक सेलरी उसे पति की बेंक अकाउंट से मिलती हे हो पहले जितनी हे. और बाकि की सेलरी मैं अपनी खर्चे से उसे देती हूँ जो उसकी तीन महीने की सेलरी जितनी हे. अक्सर मैं उसे 2-3 दिन की छुट्टी दे के उसके घर भी भेजती हूँ. मैं नहीं चाहती की उसकी बीवी की चूत उसके गम में श्राप दे उसे!



loading...

और कहानिया

loading...


Online porn video at mobile phone


bhai se chudai rat main new kahaniमम्मी चूड़ी ट्रक ड्राइवर से सेक्स स्टोरी हिंदीxxx कहानी मा नेता pariwar me chudai ke bhukhe or nange logsix कहानी हिन्दी मेचुदाई ऐसxxx nxx video hindi ma apni Vavy ka sathwww com xxx bf Apni Dukan Aanaलुंड चुशा दीदीANTAR VASNA RANEEXXX.COMpariwar me chudai ke bhukhe or nange logxxx .adlt.tak.vidieosbhai se chudai rat main new kahanibolti kahani rape hindiभाभी की बुर छोड़ै की कहानीbhabhi dede chachi mosee ki chudai ki kahaniyaxxx Hindi tambaku ka ki sexy chodaलुण्ड को मां की भोसडी मे जोर से डाला hd videos xxx सुबी सरमा नगीdeeksha chuadai storyसेक्सी स्टोरी टाइट लग्गिंग55ki sexe khaniमा कामुक कथाporn film dikhakar maa ki chudai ki kahaniseel.todane.ki.xxx.kahanichoot ke chakker me gand thuk gai gaymoshi k ldake ne chuda storis hindi antwasnama bahn kamuktaBHAI KO RANDI KE LAT SE BACHANE KE LIYE BAHAN NE KHUD CHUDWAYA BHAI SE HINDI SEX STORIESkamukta khani sexi fotu ke sathरिश्तेदारी में च**** की कहानीसेक्सी XXX फोटो की साथ लगतार वालीMarat sexi bhaby gurup khaneybade bhai ne Pehli Baar gand Chudai Hindi sex kahaniनयी चूदाई मामी की भांजे से काहानीयाxxx kahanimastram kee kahane.comरमजान के दिन भाभी को चोद हिंदी कहानियाकुवारिचुदाइ विडिओhindi sex stories/bhudayiki sex kahaniya. antarvasna com. kamukta com/tag/page 68-98-158-208-318देसी भाभी की मुह दिखेगा की सेक्स वीडियो फ्री डाउनलोड हदsaxx kahani combhai se chudi sexxxx chudai phir bar khun nikle chut seyumsex kahanihindi kahani so rahi mami thand to mai choda xxxhabshi.sxcजवान हॉट सेक्सी चाची की बस में प्यास बझाईsas sasur ke chudae vedeo henda mhindi chudai khaniyaहिंदी मां बेटा,भाई बहन चुदाई कहनियाखटिया पर चुदाई हिंदी वीडियोhindesixe.commaabetaasexkahani ghar ke draibar se chudvaivideo sekasi kahani estori comमाँ बेटा नविन सेक्स सी video 2018englis video x suhag rat suru se ant tak kya kya hota hebur chodai ke hindi khanee photo ke sathdesi bhanji ko padate padate uski bur ki seal chod ker toddi porn videoभाभी कि चुची विडियोxxxxchoti skoolsexxxx chudai ki khaniोडो सेक्सी स्टोरी हिंदी गिरलAngdai sex story,comभाबी ने लैंड पकडकर चुसायाchut land ki kahani soniya sema ne sex karna sikaya xxxx kahanisexsi gudachoda evidiokamukta sbji vale ne choda began dikha kd storiesgandi kahaniजब. बुर. लड. मे. लड. की. कहनीDost ki biwi ko party se farmhouse le ja kar choda story with picgangbang ka maza fb sex storywww जानवारो का हिन्दी सेक्सsagi mamy Ki Chut se khun niklna sexy stories image Sexxxx bur kahanixxx,vedo,dyci,chut,my,jaht